मंगलवार, 4 मार्च 2008

कोई



दिल के दरवाज़े पर दस्तक देता है कोई!

मैं खुश हूँ की अब दिल में रहता है कोई !

मेरी पलको का पानी उसकी आंखो से बहता है,

मेरी मुस्कुराहटों से कुछ जी लेता है कोई!

मैं कभी कुछ नही कहती यह हमेशा उसकी शिकायत रहती है लेकिन ,

मेरी खामोशियों को भी जुबान जुबान देता है कोई!

1 टिप्पणी:

Faiz ने कहा…

only six lines but effective nd conveying the message u want to convey
way to go!!!!!!!!!!!!!!
great